Home गाजियाबाद अब आफत भरा है रोडवेज की खटारा बसों का सफर

अब आफत भरा है रोडवेज की खटारा बसों का सफर

बसों के टूटे शीशे, गर्म हवा के लग रहे थपेड़े दिन के समय बसों में सफर कर पाना मुश्किल
संवाद न्यूज एजेंसी
गाजियाबाद। कौशाम्बी डिपो । रोडवेज बसों की व्यवस्था पटरी से उतर रही है। खटारा बसों में जहां यात्री दिन में गर्म हवा के थपेड़े खाने को मजबूर हैं , वहीं यात्रा भी सुरक्षित नहीं है। बसों की खिड़कियां और शीशे टूटे पड़े हैं। सीटों की भी स्थिति अच्छी नहीं है। मजबूरी में यात्रियों को सफर करना पड़ रहा है। परिवहन निगम ने यात्रियों की सुविधाओं को लेकर कतई गंभीर नहीं हैं।
कौशाम्बी डिपो में निगम की 135 बसें हैं। परिवहन निगम की बसों में लोग यात्रा को सुरक्षित मानते है। लेकिन विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण रोडवेज बसों में सुविधाओं पर सवाल उठने लगे हैं। अब दिन में गर्म हवा के थपेड़े लगने भी शुरू हो गया है। ऐसी स्थिति में जहां यात्रियों को गरम हवा से बचाया जाना जरूरी है। वहीं ब्रेक कम में बस और यात्रियों को दुर्घटना से भी बचाना होगा। अगर हम रोडवेज बसों की स्थिति पर गौर करें तो शीशे, खिड़की टूटी पड़ी हैं। कई गाड़ियों में बैक लाइट तक नहीं । होने के कारण बसें कभी भी दुर्घटना का शिकार हो सकती हैं। K7 इंडिया न्यूज़ ने रोडवेज की बसों में सुविधा और यात्रियों की स्थिति का जायजा लिया। टूटे शीशे और खिड़कियां गवाही देती नजर आई। बसों में गरम हवा के कारण बैठे यात्रियों की स्थिति देखने लायक रही। यात्री सुरेश, जुगल किशोर व स्मृति ने कहा कि विवाह समारोह में शामिल होने के लिए मजबूरी में आए हैं। गरम हवा से बुरा हाल हो गया।

गर्म हवा को देखते हुए टूटे शीशे ठीक कराए जाते हैं। जिससे यात्री को गर्म हवा की लपट न लग सके। बसों के टूटे शीशे लगभग बदले जा रहे हैं। – विजेंद्र सिंह फोरमैन ।कौशाम्बी डिपो ।गाजियाबाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments