Home एटा एटा, पहली बार होगा ऐसा, इस गांव में महिला बनेगी प्रधान

एटा, पहली बार होगा ऐसा, इस गांव में महिला बनेगी प्रधान

आज़ादी के बाद यह पहला मौका होगा कि एटा के ग्राम बछौरा गंग के विकास की बागडोर अब किसी महिला प्रधान के हाथों में होगी।आजादी के बाद पहली बार हुआ ऐसा
बतादें कि एटा के ग्राम बछौरा गंग में देश की आज़ादी के बाद अबकी बार पंचायत चुनाव में सामान्य महिला प्रधान बनने जा रही है। सरकार ने महिलाओं की बढ़ती हिस्सेदारी को देखते हुए। उन्हें चुनाव में पुरुषों के बराबर खड़े होकर चुनावी मैदान में अपनी शक्ति प्रदर्शन करने का मौका दे रहीं है। बछौरा गंग गांव में इ स बार महिला सीट के आने से महिलाओं में खुशी की लहर है और पुरुष भी महिलाओं को इसका हकदार बता रहे हैं और सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं। बछौरा गंगा के वोटरों की संख्या लगभग 700 के करीब हैं जिसमें 300 महिला वोटर व 400 पुरूष वोटर हैं और यहाँ की आबादी 800 के आसपास हैं। वैसे इस घनी आबादी वाले गांव में कई महिला प्रत्याशियों ने चुनावी रण में अपनी ताल ठोक दी और चुनावी मुकाबला भी रोमांचक होने की उम्मीद जताई जा रहीं हैं। 19 अप्रैल को मतदान हो गया है।

महिला के हाथों विकास की कमान
गांव के रहने वाले लोगों में महिला के हाथों विकास की कमान देखने का उत्साह भी देखने को मिल रहा है। वहीं गांव के ही रहने वाले पुरुषों का कहना है कि देश की महिला कभी भी पुरुषों से कम नही रहीं हैं चाहे कोई भी क्षेत्र हो हम महिलाओं की हिस्सेदारी को नजरअंदाज नहीं कर सकते। वहीं महिला सीट आने से यहां की महिलाओं का कहना है कि 60 वर्षों का लंबा वनवास बीतने के बाद यह शुभ घड़ी आई हैं और सरकार ने जो मौका दिया उसके लिए तहेदिल से धन्यवाद।

लेकिन जब बात देश मे बराबरी की हो रही हो तो महिलाएं पुरुषों से कम नही है इस गांव का विकास पूरी रणनीति से होगा और गांव की जो भी समस्याएं होगी उनको हम अपने द्वारा चुने गए प्रधान से दूर कराने का प्रयास करेंगे। महिलाओं का मानना हैं कि महिला प्रधान होने से महिलाओं के आर्थिक व सामाजिक उत्थान पर प्राथमिकता से ध्यान दिया जाएंगा और चुनाव के परिणाम आने के इस बछोरा गंगा में पहली बार इतिहास रचा जाएगा और यहां एक नई सुबह जन्म लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments